हरियाली तीज || LIVE IMAGE


हरियाली तीज हिन्दुओं का पवित्र त्योहार है | इसेमहिलाएंबड़े ही उत्साह और ख़ुशी से मनाती है | हरियाली तीज प्रत्येक वर्ष के श्रावण मास मे मनाई जाती है | हरियाली तीज 23 जुलाई 2020 ( गुरुवार) को है | हरियाली तीज सावन महीने के सबसे महत्वपूर्ण त्योहारों मे से एक है | इस को श्रावणी तीज, हरियाली तीज व कजरी तीज भी कहते है | हरियाली तीज के दिन सारी महिलाये अपने पति की लम्बी उम्र के लिए व्रत रखती है | इस दिन महिलाये भगवान शिव व पार्वती की पूजा करती है | हरियाली तीज भगवान शिव और पार्वती के पुनर्मिलन के दिवस के रूप मे मनाया जाता है | यह त्योहार प्रेम और सौंदर्य का प्रतीक है|


हरियाली तीज की पूजा विधि---

  •         हरियाली तीज के दिन सभी महिलाये सुबह जल्दी उठकर घर की साफ-सफाई करती है |     उसके पश्चात् स्नान करती है |
  •         स्नानकरने के बाद सभी महिलाये सजती सवरती है तथा सुन्दर और साफ़ कपडे पहनती है|
  •         हरियाली तीज को सुबह सभी महिलाये भगवान शिव और गौरी पार्वती की मिट्टी की              प्रतिमा बनाकरउनकी विधि-विधान के अनुसार पूजा व अर्चना करती है |
  •         इसके पश्चात्तु वह सब अपने पति की दीर्घायु के लिए उपवास रखती है |
  •         तीज पर महिलाये बड़े ही चाव से हाथों मे मेहंदी लगवाती है और कुछ महिलाये पैरों मे          आलन लगाती है |
  •         तीज के दिन महिलाये बागों मे झूला झूलती है, नाचती व गाती है | महिलाये झूला झूलते          वक़्त सावन के गीत गाती है |

हरियाली तीज का महत्व---

श्रावण मास मे वर्षा होने के कारण चारों तरफ हरियाली ही हरियाली होती है , इसलिए तीज को हरियाली तीज भी कहते है | प्राकर्तिक सौंदर्य इतना सुन्दर और मन लुभावन होता है की हर एक नर-नारी, जीव-जंतु और देवता भी इस प्राकर्तिक सौंदर्य का आनंद लेते है | इस मास मे किसान वर्षा ऋतु का इंतज़ार करता है जिससे की वो खरीफ फसल की बुआई कर सके | इस त्योहार पर महिलाओ के मायके से सिंधारा आता है जिसमे वस्त्र, श्रृंगार का सामान, फल, मिठाई आदि होती है |

 महिलाये अपने मायके से आये हुए वस्त्र और श्रृंगार का सामान ही पहनती है | कई स्थानों पर हरियाली तीज पर मेले लगते है | शाम को महिलाये विविध प्रकार के स्वादिष्ट पकवान बनाती है | वह संध्या के समय पूजा के उपरांत बायना निकालती है जो की सास व ननद को दिया जाता है और अपने बड़ों के चरण स्पर्श करके उनका आशीर्वाद लेती है | इसके उपरांत अपना उपवास समाप्त करके अपने परिवार के साथ खाना खाती है | अच्छे वर की मनोकामना के लिए  इस दिन कुंवारी कन्याए भी व्रत रखती है | यह त्योहार आस्था का प्रतीक माना जाता है |

                                      

हरियाली तीज को मनाने से घर मे सुख, शांति, समृधि व आनंद की प्राप्ति होती है |

सावन आया, लेकर खुशियों की बहार
संग लाया तीज का त्योहार ||
 
चन्दन की खुशबू, बादलों की फुहार
आप सभी को मुबारक हो तीज का त्योहार || 

By - Lavica Mittal

Previous
Next Post »