कमाल हो गया || by विजय लक्ष्मी सिंह || LIVE IMAGE

 

कमाल हो गया


हिसाब जो लगाया आज जिंदगी का तो फिर बवाल हो गया,

क्या खोया क्या पाया का शेष निकाला तो वो भी लाल हो गया।

रूके नही जो रोके से भी उनके चले जाने का मलाल हो गया,

वक्त की बयार में बह गए इस कदर,

वापस जाने का जब रास्ता ना मिला,

तो जिंदगी पे फिर एक सवाल हो गया।

जिनको भूलना जरूरी था ओर उनको भुला नही पाये,

तो फिर से आंखो का रंग लाल हो गया।

फिर भी बिना थके बिना रुके बढ़ते जा रहे थे आगे,

बेखुदी का जाने ये कैसा कमाल हो गया।  







विजय लक्ष्मी सिंह
(M.A. English and MBA)

Rwanda Genocide 1994 || Hindi Documentary 2021 || 4k || TIRUPATI PRODUCTION

Previous
Next Post »

3 comments

Click here for comments
April 25, 2022 at 4:47 PM ×

Kamaal kammal hoou gaayaa

Reply
avatar
April 25, 2022 at 4:49 PM ×

Kaamaaali kaa Kampala hoou gaayaa

Reply
avatar
Anonymous
admin
April 27, 2022 at 2:27 PM ×

Thanks for your feedback.

Reply
avatar